how-to-cure-pilesyoung woman nurse in medical uniform with stethoscope around neck looking at camera with serious face making stop gesture with hand standing over blue background

How To Cure Piles | Bawasir Ke Lakshan|बवासीर को जड़ से कैसे ठीक करे ?

दोस्तो कुछ बीमारियां ऐसी होती हैं जो ना तो किसी से कही जाती हैं और ना ही सही जाती हैं। ऐसी स्थिति में लोग अक्सर बीमारी को शुरुआती तौर पर नजरअंदाज कर देते हैं। मगर आगे चलकर वही बीमारी जब विकराल रूप ले लेती है तो उसके नुकसान भी लोगों को उठाने पड़ते हैं। ऐसी ही एक बीमारी है जिसे इंग्लिश में पाइल्स और हिंदी में Cure Piles कहते हैं।

how-to-cure-piles
aching young female doctor wearing medical robe holding belly with closed eyes isolated on green background with copy space

दोस्तो, कहने को तो यह बीमारी बाकी बीमारियों की तरह बहुत आम है और इसका इलाज भी मुमकिन है। इस बीमारी में ऐसी भी कोई बात नहीं है जिसकी वजह से लोग इसे बताने में शर्मिंदा हो। लेकिन यह बात आप भी अच्छी तरह से जानते हैं कि लोग इस बीमारी को हमेशा दूसरों से छुपाते हैं। कई लोग तो ऐसे भी होते हैं जो लोगों का मजाक उड़ाते हैं, जिन्हें पाइल्स होता है। लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि अन्य बीमारियों की तरह यह भी एक मामूली बीमारी ही है। तो चलिए आज इस कंटेंट में हम आपको बताते हैं पाइल्स या Cure Piles होने के क्या कारण होते हैं और शुरवाती लक्षण इसके क्या होते हैं। कैसे इस बीमारी को घरेलू उपचार से ठीक किया जा सकता है। कंटेंट को बीच में छोड़कर मत जाइएगा क्योंकि आपका नुकसान होगा। हां अगर कंटेंट  पसंद आये तो अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर कर सकते हैं।

दोस्तों किसी भी बीमारी का इलाज करने से पहले यह जान लेना बहुत जरूरी है कि उस बीमारी की जड़ क्या है यानी बीमारी होने की वजह क्या है। सबसे पहले आपको आसान भाषा में बता दें कि आखिर पाइल्स या Cure Piles किसे कहते हैं।

दोस्तो, Cure Piles एक ऐसी गंभीर बीमारी है, जिसमें आपको बहुत दर्द सहना पड़ता है। जिन लोगों को कब्ज की परेशानी होती है उन्हें अक्सर ही Cure Piles हो जाता है। इसलिए कब्ज और दस्त जैसी समस्या को गंभीरता से लेना बहुत जरूरी है। जब आपको लंबे समय से कब्ज की परेशानी होती है तो रुके हुए कब्ज की वजह से आपकी गुदा में छोटे छोटे फोड़े हो जाते हैं जिसकी वजह से मल त्यागने में दिक्कत होती है और कभी कभी खून निकलता है तो उसे ही Cure Piles की बीमारी के रूप में जाना जाता है।

लेकिन दोस्तो यह कोई लाइलाज बीमारी नहीं है लेकिन कुछ घरेलू नुस्खों से आप इस Cure Piles को जड़ से ठीक कर सकते हैं। इसके अलावा ऑपरेशन और आयुर्वेदिक दवाओं से भी आप Cure Piles की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। दोस्तो Cure Piles दो तरह के होते हैं। वादी और खूनी Cure Piles खूनी Cure Piles में किस तरह की कोई तकलीफ नहीं होती बल्कि बिना दर्द के मल त्यागते समय खून का बहाव होता है। इस तरह की Cure Piles मलाशय की रेक्टम में मौजूद होता है। इस Cure Piles में खून का बहाव बिना किसी दर्द या पीड़ा के होता है।

दोस्तों दूसरी है बादी Cure Piles जिसमें आपको मल त्याग व दर्द सहना पड़ता है और खून का बहाव इसमें भी होता है। बादी Cure Piles ज्यादा तकलीफदेह होती है। बार बार खुजली और जलन की शिकायत भी होने लगती है। इस तरह की बावासीर का इलाज तुरंत करवा लेना।

चलिए दोस्तों आपको बताते हैं Cure Piles के शुरुआती लक्षण क्या है

लक्षण

दोस्तों Cure Piles में किसी भी व्यक्ति के मल त्यागने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। वही बीमारी के गंभीर होते होते बैठने में तकलीफ होती है। इसके अलावा Cure Piles के अन्य लक्षण यह है।

1. जब भी आपको Cure Piles होने की शिकायत होती है तो उससे पहले आपको कब्ज की समस्या होती है और गुदा के आसपास दाने जैसे महसूस होते हैं। ये दाने धीरे धीरे बड़े होने लगते हैं और इसमें खून आने लगता है। मल त्याग करने में दिक्कत आने लगती है और टॉयलेट में ज्यादा वक्त बिताने लगते हैं।

2.  शौच के वक्त जलन और असहनीय दर्द होता है।

3. शौच के बाद पेट साफ न होने जैसा महसूस होता है।

4. शौच के वक्त बहुत दर्द होता है और बैठने में भी तकलीफ होती है।

5. गुदा के आसपास खुजली, जलन और सूजन होती है।

6. बार बार मल त्यागने की इच्छा होती है मगर टॉयलेट में जाने पर मल नहीं आता है।

दोस्तों ये कुछ लक्षण आपको Cure Piles होने के संकेत देते हैं। अगर आप इस तरह के लक्षण को महसूस करते हैं तो आपको तुरंत ही डॉक्टर को दिखाकर इसका इलाज शुरू कर देना चाहिए। वैसे तो Cure Piles का जल्दी पता चल जाए तो 4 से 5 दिनों में इसका इलाज करके इसे जड़ से खत्म किया जा सकता है। मगर इसमें जरा सी भी लापरवाही हुई तो यह भयानक रूप भी ले सकता है।

बवासीर को घरेलू उपायों से ठीक करने की कोशिश करनी चाहिए। आइये दोस्तो आपको बताते हैं बवासीर को जड़ से खत्म करने के घरेलू उपाय।

1. एलोवेरा का इस्तेमाल करके बवासीर से मुक्ति पाइए। एलोवेरा एक औषधीय पौधा है। इसमें सूजन को कम करने की क्षमता होती है। एलोवेरा का इस्तेमाल करके बवासीर की जलन को कम किया जा सकता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल करने से कब्ज की समस्या भी नहीं होती। एलोवेरा खून और वादी दोनों बवासीर का काफी उपयोगी इलाज होता है। गुदा के बाहर के मस्सों में एलोवेरा जेल लगाने से यह जलन और खुजली को कम करता है। एलोवेरा के 200 से 250 ग्राम गूदे को खाने से कब्ज नहीं होता और मल त्यागने में भी आसानी होती है।

2. बवासीर में फायदेमंद है सेब का सिरका। सेब का सिरका अपने कषाय गुणों के कारण रक्त वाहिनियों को सिकोड़ने में मदद करता है। खूनी बवासीर में एक गिलास पानी में सेब के सिरके का एक चम्मच डालकर दिन में दो बार पीने से बवासीर से मुक्ति मिल सकती है। अगर आपको बादी बवासीर है तो सेब के सिरके से रूई में भिगोकर इसे गुदा पर रख सकते हैं जिससे जलन और खुजली में आपको राहत मिलेगी।

3. बवासीर से बचने के लिए जैतून के तेल का इस्तेमाल। दोस्तों बवासीर के इलाज में जैतून का तेल भी बहुत उपयोगी साबित होता है। जैतून के तेल में सूजन ठीक करने वाले गुण होते हैं। रक्त वाहिकाओं में होने वाले सूजन को जैतून का तेल लगाने से कम किया जा सकता है। जैतून के तेल को वादी बवासीर के मस्सों पर लगाने से भी आराम मिलता है।

4. आलूबुखारा। दोस्तों आलूबुखारे में विटामिन सी, ए और एलपीए भरपूर मात्रा में मिलता है। बवासीर की शिकायत होने पर आलूबुखारा खाने से दर्द और सूजन कम होता है।

5.टमाटर तो टमाटर में मौजूद लाइकोपीन नामक तत्व गुदा के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। बवासीर की शिकायत होने पर आप कच्चा या पका टमाटर खा सकते हैं। इससे आपको राहत मिलेगी। इसके अलावा आप चाहें तो टमाटर का रस गुदा पर लगा सकते हैं। इससे सूजन कम होती है।

6. आंवला दोस्तो जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आंवला विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है जो गुदा के रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है। बवासीर में आंवले का इस्तेमाल करने के लिए आप। पहले आमले को सुखा लीजिए और फिर पानी में भिगोकर से गूदे पर लगाकर रातभर छोडने से सूजन और दर्द कम होता है।

7. जीरे का प्रयोग बादी बवासीर में दर्द और जलन का एहसास बहुत अधिक होता है। जिससे राहत पाने के लिए आप जीरे के दाने को पानी के साथ पीसकर लेप बनाकर उसे मस्सों वाली जगह पर लगाएं तो आपको राहत मिलेगी। अगर आपको खूनी बवासीर है तो ऐसे में आपको जीरे को भूनकर मिश्री के साथ पीस लें और दिन में 2 से 3 बार 1 से 2 ग्राम की मात्रा में मट्ठे के साथ इसका सेवन करें।

8.हल्दी पाउडर और नारियल तेल।  दोस्तों आयुर्वेदिक नजर से देखे तो नारियल का तेल कई बीमारियों में कारगर साबित होता है। इसी तरह से यह बवासीर में भी बहुत उपयोगी है। बवासीर की शिकायत होने पर नारियल के तेल में चुटकी भर हल्दी पाउडर मिलाकर मस्सों वाली जगह पर कॉटन से लगा लें। गुदा के बाहरी हिस्सों में होने वाली बवासीर के इलाज के लिए यह बहुत ही लाभकारी इलाज है।

9. मट्ठा और अजवायन बवासीर के रोगियों के लिए मट्ठा अमृत जैसा है। एक गिलास छाछ में अजवायन और काला नमक डालकर इसे दोपहर में खाने में पीने में। अक्सर आपको बवासीर के असहनीय दर्द से राहत मिलती है। दोस्तों इन सभी घरेलू उपचारों को करके कोई भी व्यक्ति बवासीर से मुक्ति पा सकता है। बवासीर अगर ज्यादा विकराल हो जाए तो चिंता की बात नहीं है बल्कि आप डॉक्टर से सलाह लेकर इसका ऑपरेशन भी करवा सकते हैं।

What heals Cure Piles fast?

Healing Cure Piles snappily frequently involves a combination of home remedies, life changes, and, in some cases, medical treatments. Then are some ways to promote briskly healing of piles( hemorrhoids)

Salutary Changes Increase your fiber input by consuming further fruits, vegetables, and whole grains. This helps soften your droppings and reduce straining during bowel movements.

Hydration Stay well-conditioned-doused to help constipation, which can complicate piles.

Sitz cataracts Soaking in warm water cataracts, known as sitz cataracts, can help relieve discomfort and promote mending.

Topical Treatments untoward creams, ointments, or suppositories containing constituents like hydrocortisone can reduce inflammation and itching.

Avoid Straining Try not to strain during bowel movements; take your time and use proper posture on the restroom.

Exercise Regular physical exertion can ameliorate rotation and help help constipation.

Do not Delay Bowel Movements Avoid holding in droppings; go to the bathroom when you feel the appetite.

Medical Treatment If home remedies do not give relief, consult a healthcare professional. They may recommend procedures like rubber band ligation, sclerotherapy, or surgical junking for more severe cases.

Pain ManagementOver-the-counter pain relievers like acetaminophen or ibuprofen can help manage pain and discomfort.

Consult a Croaker If your symptoms persist or worsen, consult a healthcare provider for a proper opinion and substantiated treatment plan.

The speed of mending can vary from person to person, so it’s essential to be patient and harmonious with thesestrategies.However, it’s pivotal to seek medical advice for the most applicable treatment options, If your piles are causing significant discomfort or bleeding.

[sp_easyaccordion id=”415″]

इसके अलावा बवासीर के समय अपने खान पान पर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत पड़ती है। बवासीर में रेशेदार और फाइबर वाले आहार की ही सेवन करें जैसे कि हरी पत्तेदार सब्जियां, फल। 7 से 8 गिलास पानी रोजाना पीना चाहिए और रोजाना आपको अपने आहार में छाछ जरूर पीना चाहिए।

दोस्तों आज का कंटेंट आपके लिए कितनी उपयोगी रही हमें कमेंट करके जरूर बताइएगा। कंटेंट पसंद आया हो तो इसे  शेयर ज़रूर कीजिएगा। इस तरह के इंफॉर्मेटिक्स कंटेंट को पढ़ने के लिए अभी और इसी वक्त हमारी साइट को नोट कर लीजिए

मिलते है ऐसे ही किसी नए और इंटरेस्टिंग कंटेंट के साथ हमारी इसी साइट apnaapnablogs पर तब तक के लिए बाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *